लावारिस शवों का संस्कार व अस्थियां विसर्जित करने का नेक काम करता है पांवटा साहिब का युवक हेंमत

लावारिस शवों का संस्कार व अस्थियां विसर्जित करने का नेक काम करता है पांवटा साहिब का युवक हेंमत
Advertisement

लावारिस शवों का संस्कार व अस्थियां विसर्जित करने का नेक काम करता है पांवटा साहिब का युवक हेंमत

एक साल के भीतर करीब 16 लावारिस शवों के संस्कार व उनकी अस्थियों को विसर्जित कर चुका है हेंमत

 

पांवटा साहिब। आज जब हमारे समाज में परोपकार की भावना, मानवीय संवेदनाएं व इंसानियत खत्म होती जा रही है। वहीं समाज में कुछ ऐसे लोग भी है। जो आज भी बिना किसी स्वार्थ के समाज के लिए कुछ ना कुछ कर रहे है। इसमें हिमाचल प्रदेश के सिरमौर जिले के पांवटा साहिब के युवा हेंमत शर्मा भी है। यह युवक लावारिस शवों के संस्कार करने व अस्थियों को विसर्जित करते है। कई बार तो शव ऐसे सड़े गले होते है कि जिनको हाथ लगाते हुए लोग कतराते है। मगर हेंमत शर्मा पूरी निष्ठा से ऐसे शवों का संस्कार भी करते है। 

Advertisement

हेंमत शर्मा एक साल के भीतर करीब 16 लावारिसों के शवों के संस्कार व उनकी अस्थियों को विसर्जित कर चुका है। उसके इस महान कार्यो की सब तरफ तारीफ हो रही हैं। इससे पहले पांवटा साहिब के शमशान घाट में नगर परिषद की ओर से पुलिस द्वारा सौंपे जाने वाले लावारिसों के शव का संस्कार करती थी। मगर संस्कार के बाद कोई भी अस्थियों के विर्सजन के लिए नहीं आता था। जिस कारण हेंमत शर्मा ने इस पुण्य कार्य को करने की ठानी। पांवटा में पतंजलि उत्पादों के थोक विक्रेता हेमंत शर्मा अस्थियां विर्जन के अलावा सभी कार्यों को पूरे विधि विधान के साथ संपन्न करते है। 

 

गरीब परिवारों की भी मदद करते है जो अंतिम संस्कार का खर्चा नही उठा पाते
हेंमत शर्मा का कहना है कि उनका काफी पहले से यह कार्य करने का मन था। इसके लिए उन्हे फरवरी 2017 में प्रशासन की ओर से अनुमति मिल गई। इसके बाद से वह 16़ शवों के संस्कार व उनकी अस्थियों को विर्सजित कर चुका है। उन्होंने कहा कि इस कार्य से लावारिस का संस्कार विधिवत होगा ताकि उनकी आत्मा को शांति मिल सके। हेंमत ने बताया वह लावारिस शवों के लिए गरीब परिवारों की भी मदद करते है। जो अंतिम संस्कार का खर्चा नही उठा पाते।

Advertisement

 

हेंमत शर्मा का जन्म 16 मई 1986 को पांवटा साहिब में हुआ है। इनके पिता का देंहात 9 साल पहले हो चुका हे। यह हर समय लोगो की सेवा में तत्पर रहते है। हेंमत शर्मा को कई संस्थाएं इस नेक कार्य के लिए सम्मानित कर चुकी है। दून प्रेस क्लब पांवटा सािहब भी इनको सम्मानित कर चुका है। हाल ही में उनको हरियाणा की देव मानव ट्रस्ट द्वारा सम्मानित किया गया है। यह सम्मान उन्हें लावारिस शवों के संस्कार करने के लिए दिया गया है। 

Tags:

Localnewsofindia
Advertisement