• कैसे बचा पाऐगें बेटियों को

    कैसे बचा पाऐगें बेटियों को

    प्रधानंमंंत्री नरेन्द्र मोदी ने जब भारत के प्रधानमंत्री के रूप में शपथ ली थी तब उनका पहला नारा बेटी पढ़ाओं बेटी बचाओ था। हरियाणा के ऐतिहासिक शहर पानीपत से इस मुहिम का आगाज खुद प्रधानमंंत्री ने किया था। लेकिन जैसे जैसे भाजपा सता के पादयदान पर बढ़ती चली गई तो अपने वादे भी दरकिनार करती चली गई। पिछले चार सालो मेंं बेटिंया कितनी सुरक्षित है यह सभी को पता है। आऐ दिन कही ना कही कोई रेप की घटना मीडिया की सुर्खीयों मेंं होती है। ऐसे करने वाले अधिकांश लोग प्रभावशाली होते है। पुलिस उन पर हाथ डालने में घबराती नजर आती है। मामला जब मीडिया में तूल पकड़ा है तो कार्यवाही की जाती है। उन्नाव में एक पिता अपनी बेटी को इसांफ दिलाते हुए मारा गया भाजपा के दबंगो ने सता के मद मेंं सभी कानून ताक पर रख साबित कर दिया कि भाजपा का राज भी अन्य पार्टियों की तरह ही साबित हो गया।

  • कैसे बचा पाऐगें बेटियों को

    कैसे बचा पाऐगें बेटियों को

    प्रधानंमंंत्री नरेन्द्र मोदी ने जब भारत के प्रधानमंत्री के रूप में शपथ ली थी तब उनका पहला नारा बेटी पढ़ाओं बेटी बचाओ था। हरियाणा के ऐतिहासिक शहर पानीपत से इस मुहिम का आगाज खुद प्रधानमंंत्री ने किया था। लेकिन जैसे जैसे भाजपा सता के पादयदान पर बढ़ती चली गई तो अपने वादे भी दरकिनार करती चली गई। पिछले चार सालो मेंं बेटिंया कितनी सुरक्षित है यह सभी को पता है। आऐ दिन कही ना कही कोई रेप की घटना मीडिया की सुर्खीयों मेंं होती है। ऐसे करने वाले अधिकांश लोग प्रभावशाली होते है। पुलिस उन पर हाथ डालने में घबराती नजर आती है। मामला जब मीडिया में तूल पकड़ा है तो कार्यवाही की जाती है। उन्नाव में एक पिता अपनी बेटी को इसांफ दिलाते हुए मारा गया भाजपा के दबंगो ने सता के मद मेंं सभी कानून ताक पर रख साबित कर दिया कि भाजपा का राज भी अन्य पार्टियों की तरह ही साबित हो गया।

  • कैसे बचा पाऐगें बेटियों को

    कैसे बचा पाऐगें बेटियों को

    प्रधानंमंंत्री नरेन्द्र मोदी ने जब भारत के प्रधानमंत्री के रूप में शपथ ली थी तब उनका पहला नारा बेटी पढ़ाओं बेटी बचाओ था। हरियाणा के ऐतिहासिक शहर पानीपत से इस मुहिम का आगाज खुद प्रधानमंंत्री ने किया था। लेकिन जैसे जैसे भाजपा सता के पादयदान पर बढ़ती चली गई तो अपने वादे भी दरकिनार करती चली गई। पिछले चार सालो मेंं बेटिंया कितनी सुरक्षित है यह सभी को पता है। आऐ दिन कही ना कही कोई रेप की घटना मीडिया की सुर्खीयों मेंं होती है। ऐसे करने वाले अधिकांश लोग प्रभावशाली होते है। पुलिस उन पर हाथ डालने में घबराती नजर आती है। मामला जब मीडिया में तूल पकड़ा है तो कार्यवाही की जाती है। उन्नाव में एक पिता अपनी बेटी को इसांफ दिलाते हुए मारा गया भाजपा के दबंगो ने सता के मद मेंं सभी कानून ताक पर रख साबित कर दिया कि भाजपा का राज भी अन्य पार्टियों की तरह ही साबित हो गया।

  • कैसे बचा पाऐगें बेटियों को

    कैसे बचा पाऐगें बेटियों को

    प्रधानंमंंत्री नरेन्द्र मोदी ने जब भारत के प्रधानमंत्री के रूप में शपथ ली थी तब उनका पहला नारा बेटी पढ़ाओं बेटी बचाओ था। हरियाणा के ऐतिहासिक शहर पानीपत से इस मुहिम का आगाज खुद प्रधानमंंत्री ने किया था। लेकिन जैसे जैसे भाजपा सता के पादयदान पर बढ़ती चली गई तो अपने वादे भी दरकिनार करती चली गई। पिछले चार सालो मेंं बेटिंया कितनी सुरक्षित है यह सभी को पता है। आऐ दिन कही ना कही कोई रेप की घटना मीडिया की सुर्खीयों मेंं होती है। ऐसे करने वाले अधिकांश लोग प्रभावशाली होते है। पुलिस उन पर हाथ डालने में घबराती नजर आती है। मामला जब मीडिया में तूल पकड़ा है तो कार्यवाही की जाती है। उन्नाव में एक पिता अपनी बेटी को इसांफ दिलाते हुए मारा गया भाजपा के दबंगो ने सता के मद मेंं सभी कानून ताक पर रख साबित कर दिया कि भाजपा का राज भी अन्य पार्टियों की तरह ही साबित हो गया।

  • कैसे बचा पाऐगें बेटियों को

    कैसे बचा पाऐगें बेटियों को

    प्रधानंमंंत्री नरेन्द्र मोदी ने जब भारत के प्रधानमंत्री के रूप में शपथ ली थी तब उनका पहला नारा बेटी पढ़ाओं बेटी बचाओ था। हरियाणा के ऐतिहासिक शहर पानीपत से इस मुहिम का आगाज खुद प्रधानमंंत्री ने किया था। लेकिन जैसे जैसे भाजपा सता के पादयदान पर बढ़ती चली गई तो अपने वादे भी दरकिनार करती चली गई। पिछले चार सालो मेंं बेटिंया कितनी सुरक्षित है यह सभी को पता है। आऐ दिन कही ना कही कोई रेप की घटना मीडिया की सुर्खीयों मेंं होती है। ऐसे करने वाले अधिकांश लोग प्रभावशाली होते है। पुलिस उन पर हाथ डालने में घबराती नजर आती है। मामला जब मीडिया में तूल पकड़ा है तो कार्यवाही की जाती है। उन्नाव में एक पिता अपनी बेटी को इसांफ दिलाते हुए मारा गया भाजपा के दबंगो ने सता के मद मेंं सभी कानून ताक पर रख साबित कर दिया कि भाजपा का राज भी अन्य पार्टियों की तरह ही साबित हो गया।

  • उन्नाव गैंगरेप केस में आरोपी बीजेपी विधायक कुलदीप सिंह सेंगर की  गिरफ्तारी आखिर कब ?

    उन्नाव गैंगरेप केस में आरोपी बीजेपी विधायक कुलदीप सिंह सेंगर की गिरफ्तारी आखिर कब ?

    उन्नाव गैंगरेप केस में आरोपी बीजेपी विधायक कुलदीप सिंह सेंगर के खिलाफ मुकम्मल कार्रवाई यानि गिरफ्तारी आखिर कब होगी? इस सवाल का जवाब फिलहाल उत्तर प्रदेश पुलिस के पास भी नहीं है. दरअसल, योगी सरकार विधायक के रसूख की वजह से अब तक लीपापोती में जुटी थी और शायद आगे भी इसी मूड में है.

  • उन्नाव गैंगरेप केस में आरोपी बीजेपी विधायक कुलदीप सिंह सेंगर की  गिरफ्तारी आखिर कब ?

    उन्नाव गैंगरेप केस में आरोपी बीजेपी विधायक कुलदीप सिंह सेंगर की गिरफ्तारी आखिर कब ?

    उन्नाव गैंगरेप केस में आरोपी बीजेपी विधायक कुलदीप सिंह सेंगर के खिलाफ मुकम्मल कार्रवाई यानि गिरफ्तारी आखिर कब होगी? इस सवाल का जवाब फिलहाल उत्तर प्रदेश पुलिस के पास भी नहीं है. दरअसल, योगी सरकार विधायक के रसूख की वजह से अब तक लीपापोती में जुटी थी और शायद आगे भी इसी मूड में है.

  • उन्नाव गैंगरेप केस में आरोपी बीजेपी विधायक कुलदीप सिंह सेंगर की  गिरफ्तारी आखिर कब ?

    उन्नाव गैंगरेप केस में आरोपी बीजेपी विधायक कुलदीप सिंह सेंगर की गिरफ्तारी आखिर कब ?

    उन्नाव गैंगरेप केस में आरोपी बीजेपी विधायक कुलदीप सिंह सेंगर के खिलाफ मुकम्मल कार्रवाई यानि गिरफ्तारी आखिर कब होगी? इस सवाल का जवाब फिलहाल उत्तर प्रदेश पुलिस के पास भी नहीं है. दरअसल, योगी सरकार विधायक के रसूख की वजह से अब तक लीपापोती में जुटी थी और शायद आगे भी इसी मूड में है.

  • उन्नाव गैंगरेप केस में आरोपी बीजेपी विधायक कुलदीप सिंह सेंगर की  गिरफ्तारी आखिर कब ?

    उन्नाव गैंगरेप केस में आरोपी बीजेपी विधायक कुलदीप सिंह सेंगर की गिरफ्तारी आखिर कब ?

    उन्नाव गैंगरेप केस में आरोपी बीजेपी विधायक कुलदीप सिंह सेंगर के खिलाफ मुकम्मल कार्रवाई यानि गिरफ्तारी आखिर कब होगी? इस सवाल का जवाब फिलहाल उत्तर प्रदेश पुलिस के पास भी नहीं है. दरअसल, योगी सरकार विधायक के रसूख की वजह से अब तक लीपापोती में जुटी थी और शायद आगे भी इसी मूड में है.

  • उन्नाव गैंगरेप केस में आरोपी बीजेपी विधायक कुलदीप सिंह सेंगर की  गिरफ्तारी आखिर कब ?

    उन्नाव गैंगरेप केस में आरोपी बीजेपी विधायक कुलदीप सिंह सेंगर की गिरफ्तारी आखिर कब ?

    उन्नाव गैंगरेप केस में आरोपी बीजेपी विधायक कुलदीप सिंह सेंगर के खिलाफ मुकम्मल कार्रवाई यानि गिरफ्तारी आखिर कब होगी? इस सवाल का जवाब फिलहाल उत्तर प्रदेश पुलिस के पास भी नहीं है. दरअसल, योगी सरकार विधायक के रसूख की वजह से अब तक लीपापोती में जुटी थी और शायद आगे भी इसी मूड में है.

Advertisement