• लड़की को रेप के बाद दबंगों ने घर में घुसकर जिंदा जलाया

    लड़की को रेप के बाद दबंगों ने घर में घुसकर जिंदा जलाया

    इंसानियत को झकझोर कर देने वाली घटना में झारखंड के चतरा जिले में एक नाबालिग लड़की को पांच लोगों ने कथित गैंगरेप के बाद जिंदा जला डाला। बाद में पीड़िता की मौत हो गई। अब इस मामले में पुलिस ने 14 लोगों को गिरफ्तार कि

  • लड़की को रेप के बाद दबंगों ने घर में घुसकर जिंदा जलाया

    लड़की को रेप के बाद दबंगों ने घर में घुसकर जिंदा जलाया

    इंसानियत को झकझोर कर देने वाली घटना में झारखंड के चतरा जिले में एक नाबालिग लड़की को पांच लोगों ने कथित गैंगरेप के बाद जिंदा जला डाला। बाद में पीड़िता की मौत हो गई। अब इस मामले में पुलिस ने 14 लोगों को गिरफ्तार कि

  • लड़की को रेप के बाद दबंगों ने घर में घुसकर जिंदा जलाया

    लड़की को रेप के बाद दबंगों ने घर में घुसकर जिंदा जलाया

    इंसानियत को झकझोर कर देने वाली घटना में झारखंड के चतरा जिले में एक नाबालिग लड़की को पांच लोगों ने कथित गैंगरेप के बाद जिंदा जला डाला। बाद में पीड़िता की मौत हो गई। अब इस मामले में पुलिस ने 14 लोगों को गिरफ्तार कि

  • हमारी असल चिंता कठुआ मामले की निष्पक्ष सुनवाई को लेकर है: SC

    हमारी असल चिंता कठुआ मामले की निष्पक्ष सुनवाई को लेकर है: SC

    प्रीम कोर्ट ने आज कहा कि उसकी ‘असल चिंता’ कठुआ मामले के मुकदमे की निष्पक्ष सुनवाई को लेकर है। न्यायालय ने साथ ही संकेत दिया कि यदि उसे जरा भी ऐसी संभावना लगी कि निष्पक्ष सुनवाई संभव नहीं है तो इस मामले को कठुआ से बाहर स्थानांतरित कर दिया जायेगा। प्रधान न्यायाधीश दीपक मिश्रा, न्यायमूर्ति एएम खानविलकर और न्यायमूर्ति धनंजय वाई चन्द्रचूड़ की तीन सदस्यीय खंडपीठ ने कठुआ सामूहिक बलात्कार और हत्या के इस मामले में कहा कि मुकदमे की सुनवाई आरोपियों के लिए ही नहीं बल्कि पीड़ित परिवार के लिये भी निष्प्क्ष होनी चाहिए। उनके वकीलों की भी सुरक्षा सुनिश्चित की जानी चाहिए।

  • हमारी असल चिंता कठुआ मामले की निष्पक्ष सुनवाई को लेकर है: SC

    हमारी असल चिंता कठुआ मामले की निष्पक्ष सुनवाई को लेकर है: SC

    प्रीम कोर्ट ने आज कहा कि उसकी ‘असल चिंता’ कठुआ मामले के मुकदमे की निष्पक्ष सुनवाई को लेकर है। न्यायालय ने साथ ही संकेत दिया कि यदि उसे जरा भी ऐसी संभावना लगी कि निष्पक्ष सुनवाई संभव नहीं है तो इस मामले को कठुआ से बाहर स्थानांतरित कर दिया जायेगा। प्रधान न्यायाधीश दीपक मिश्रा, न्यायमूर्ति एएम खानविलकर और न्यायमूर्ति धनंजय वाई चन्द्रचूड़ की तीन सदस्यीय खंडपीठ ने कठुआ सामूहिक बलात्कार और हत्या के इस मामले में कहा कि मुकदमे की सुनवाई आरोपियों के लिए ही नहीं बल्कि पीड़ित परिवार के लिये भी निष्प्क्ष होनी चाहिए। उनके वकीलों की भी सुरक्षा सुनिश्चित की जानी चाहिए।

  • हमारी असल चिंता कठुआ मामले की निष्पक्ष सुनवाई को लेकर है: SC

    हमारी असल चिंता कठुआ मामले की निष्पक्ष सुनवाई को लेकर है: SC

    प्रीम कोर्ट ने आज कहा कि उसकी ‘असल चिंता’ कठुआ मामले के मुकदमे की निष्पक्ष सुनवाई को लेकर है। न्यायालय ने साथ ही संकेत दिया कि यदि उसे जरा भी ऐसी संभावना लगी कि निष्पक्ष सुनवाई संभव नहीं है तो इस मामले को कठुआ से बाहर स्थानांतरित कर दिया जायेगा। प्रधान न्यायाधीश दीपक मिश्रा, न्यायमूर्ति एएम खानविलकर और न्यायमूर्ति धनंजय वाई चन्द्रचूड़ की तीन सदस्यीय खंडपीठ ने कठुआ सामूहिक बलात्कार और हत्या के इस मामले में कहा कि मुकदमे की सुनवाई आरोपियों के लिए ही नहीं बल्कि पीड़ित परिवार के लिये भी निष्प्क्ष होनी चाहिए। उनके वकीलों की भी सुरक्षा सुनिश्चित की जानी चाहिए।

  • हमारी असल चिंता कठुआ मामले की निष्पक्ष सुनवाई को लेकर है: SC

    हमारी असल चिंता कठुआ मामले की निष्पक्ष सुनवाई को लेकर है: SC

    प्रीम कोर्ट ने आज कहा कि उसकी ‘असल चिंता’ कठुआ मामले के मुकदमे की निष्पक्ष सुनवाई को लेकर है। न्यायालय ने साथ ही संकेत दिया कि यदि उसे जरा भी ऐसी संभावना लगी कि निष्पक्ष सुनवाई संभव नहीं है तो इस मामले को कठुआ से बाहर स्थानांतरित कर दिया जायेगा। प्रधान न्यायाधीश दीपक मिश्रा, न्यायमूर्ति एएम खानविलकर और न्यायमूर्ति धनंजय वाई चन्द्रचूड़ की तीन सदस्यीय खंडपीठ ने कठुआ सामूहिक बलात्कार और हत्या के इस मामले में कहा कि मुकदमे की सुनवाई आरोपियों के लिए ही नहीं बल्कि पीड़ित परिवार के लिये भी निष्प्क्ष होनी चाहिए। उनके वकीलों की भी सुरक्षा सुनिश्चित की जानी चाहिए।

  • कैसे बचा पाऐगें बेटियों को

    कैसे बचा पाऐगें बेटियों को

    प्रधानंमंंत्री नरेन्द्र मोदी ने जब भारत के प्रधानमंत्री के रूप में शपथ ली थी तब उनका पहला नारा बेटी पढ़ाओं बेटी बचाओ था। हरियाणा के ऐतिहासिक शहर पानीपत से इस मुहिम का आगाज खुद प्रधानमंंत्री ने किया था। लेकिन जैसे जैसे भाजपा सता के पादयदान पर बढ़ती चली गई तो अपने वादे भी दरकिनार करती चली गई। पिछले चार सालो मेंं बेटिंया कितनी सुरक्षित है यह सभी को पता है। आऐ दिन कही ना कही कोई रेप की घटना मीडिया की सुर्खीयों मेंं होती है। ऐसे करने वाले अधिकांश लोग प्रभावशाली होते है। पुलिस उन पर हाथ डालने में घबराती नजर आती है। मामला जब मीडिया में तूल पकड़ा है तो कार्यवाही की जाती है। उन्नाव में एक पिता अपनी बेटी को इसांफ दिलाते हुए मारा गया भाजपा के दबंगो ने सता के मद मेंं सभी कानून ताक पर रख साबित कर दिया कि भाजपा का राज भी अन्य पार्टियों की तरह ही साबित हो गया।

  • कैसे बचा पाऐगें बेटियों को

    कैसे बचा पाऐगें बेटियों को

    प्रधानंमंंत्री नरेन्द्र मोदी ने जब भारत के प्रधानमंत्री के रूप में शपथ ली थी तब उनका पहला नारा बेटी पढ़ाओं बेटी बचाओ था। हरियाणा के ऐतिहासिक शहर पानीपत से इस मुहिम का आगाज खुद प्रधानमंंत्री ने किया था। लेकिन जैसे जैसे भाजपा सता के पादयदान पर बढ़ती चली गई तो अपने वादे भी दरकिनार करती चली गई। पिछले चार सालो मेंं बेटिंया कितनी सुरक्षित है यह सभी को पता है। आऐ दिन कही ना कही कोई रेप की घटना मीडिया की सुर्खीयों मेंं होती है। ऐसे करने वाले अधिकांश लोग प्रभावशाली होते है। पुलिस उन पर हाथ डालने में घबराती नजर आती है। मामला जब मीडिया में तूल पकड़ा है तो कार्यवाही की जाती है। उन्नाव में एक पिता अपनी बेटी को इसांफ दिलाते हुए मारा गया भाजपा के दबंगो ने सता के मद मेंं सभी कानून ताक पर रख साबित कर दिया कि भाजपा का राज भी अन्य पार्टियों की तरह ही साबित हो गया।

  • कैसे बचा पाऐगें बेटियों को

    कैसे बचा पाऐगें बेटियों को

    प्रधानंमंंत्री नरेन्द्र मोदी ने जब भारत के प्रधानमंत्री के रूप में शपथ ली थी तब उनका पहला नारा बेटी पढ़ाओं बेटी बचाओ था। हरियाणा के ऐतिहासिक शहर पानीपत से इस मुहिम का आगाज खुद प्रधानमंंत्री ने किया था। लेकिन जैसे जैसे भाजपा सता के पादयदान पर बढ़ती चली गई तो अपने वादे भी दरकिनार करती चली गई। पिछले चार सालो मेंं बेटिंया कितनी सुरक्षित है यह सभी को पता है। आऐ दिन कही ना कही कोई रेप की घटना मीडिया की सुर्खीयों मेंं होती है। ऐसे करने वाले अधिकांश लोग प्रभावशाली होते है। पुलिस उन पर हाथ डालने में घबराती नजर आती है। मामला जब मीडिया में तूल पकड़ा है तो कार्यवाही की जाती है। उन्नाव में एक पिता अपनी बेटी को इसांफ दिलाते हुए मारा गया भाजपा के दबंगो ने सता के मद मेंं सभी कानून ताक पर रख साबित कर दिया कि भाजपा का राज भी अन्य पार्टियों की तरह ही साबित हो गया।

Advertisement