एनएसयूआई के प्रत्याशी और अध्यक्ष को अज्ञात लोगों ने पीटा, दोनों अस्पताल में भर्ती

एनएसयूआई के प्रत्याशी और अध्यक्ष को अज्ञात लोगों ने पीटा, दोनों अस्पताल में भर्ती
Advertisement

 

छात्रसंघ चुनाव: एनएसयूआई के प्रत्याशी और अध्यक्ष को अज्ञात लोगों ने पीटा, दोनों अस्पताल में भर्ती

देररात करीब 1 बजे एनएसयूआई के प्रत्याशी और प्रदेशाध्यक्ष को पीटने का मामला सामने आया है

जयपुर. राजस्थान छात्रसंघ चुनाव में बुधवार दिन में हुई मारपीट के बाद देररात करीब 1 बजे एनएसयूआई के प्रत्याशी और प्रदेशाध्यक्ष को पीटने का मामला सामने आया है। दोनों प्रचारके सिलसिले में युनिवर्सिटी में मौजूद थे। इस दौरान घात लगाए बैठे कुछ लोगों ने दोनों पर लाठी-डंडों से हमला कर दिया। जिससे एनएसयूआई के प्रत्याशी रणवीर सिंघानिया के सिर में आठ टांके आए हैं। वहीं अभिमन्यू पूनिया को हल्की चौटें आई हैं। दोनों को ही अस्पताल में भर्ती करवाया गया है। 

Advertisement

 

- घटना के बाद से ही अस्पताल में कार्यकर्ता और छात्र नेताओं का आना जारी है। गुरुवार सुबह से ही अस्पताल की सुरक्षा बढ़ा दी गई है। साथ ही युनिवर्सिटी को भी छावनी में बदल दिया गया है। इसके साथ कॉलेजों में भी पुलिसदल की संख्या बढ़ा दी गई है।
- पुलिस के अनुसार देररात एनएसयूआई के प्रत्याशी रणवीर सिंह और प्रदेश अध्यक्ष अभिमन्यू पुनिया युनिवर्सिटी से अरावली हॉस्टल की तरफ जा रहे थे। इस दौरान विवेकानंद की मूर्ती के पास घात लगाए बैठे कुछ लोगों ने उन पर हमला बोल दिया और दोनों की पिटाई कर दी। पुलिस ने इस मामले में अज्ञात लोगों के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया है। जिनकी फिलहाल तलाश की जा रही है। बताया जा रहा है कि दोनों छात्र नेताओं की स्थिति फिलहाल खतरे से बाहर है। इसके साथ कांग्रेस के नेताओं का भी एसएमएस अस्पताल आना जारी है। रामेश्वर डूडी भी इन छात्र नेताओं से मिलने अस्पताल पहुंचे।

सीकर में जिलाध्यक्ष वर्मा को एसएफआई कार्यकर्ताओं ने पीटा

Advertisement

- बुधवार रात करीब दस बजे एसएफआई और डीएएसएफआई के कार्यकर्ता आपस में भिड़ गए। इस हमले में डीएएसएफआई के जिलाध्यक्ष अशोक वर्मा पर सरियों से हमला कर दिया। उनके सिर में सात टांके आए और हाथ फ्रैक्चर हो गए। छात्र नेता को नवलगढ़ अस्पताल ले जाया गया, जहां से एसके अस्पताल सीकर रैफर कर दिया गया। सीओ ग्रामीण रघुवीर प्रसाद अस्पताल पहुंचे और अशोक से घटना की पूरी जानकारी ली। इधर, एसएफआई ने इस हमले में उनके कार्यकर्ताओं का हाथ होने से इनकार कर दिया है।

 

Tags:

Localnewsofindia
Advertisement