बगावत ने पहुंचाया जेल:पब्लिसिटी सैल के पूर्व चेयरमैन रॉकी मित्तल अरेस्ट, मनोहर सरकार पर आरोप जड़े तो खुला पुराना केस

Advertisement

कैथल में मंगलवार को हरियाणा की स्पेशल पब्लिसिटी सैल के पूर्व चेयरमैन रॉकी मित्तल को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। वजह सरकार के खिलाफ बगावत है, जिसके चलते लगभग 6 साल पुराना बदतमीजी का मामला फिर से खोला गया गया है। उस वक्त एक रोष प्रदर्शन ने एक जज की कार की बत्ती उतारकर जज के मुंह पर दे मारी थी। हालांकि रॉकी का कहना है कि तीन बार बंद हो चुके केस को बार-बार सिर्फ और सिर्फ खुंदक निकालने के लिए खोला जा रहा है।

बात 12 मई 2015 की है, जब झज्जर के तत्कालीन एडिशनल चीफ ज्यूडिशियल मजिस्ट्रेट विवेक नासिर अपनी साली के विवाह समारोह में शरीक होकर पटियाला से लौट रहे थे। उस वक्त कैथल में जींद रोड बाई पास पर लोगों ने किसी कत्ल की वारदात के कारण लगाया हुआ था। कारण पूछने पर नेता की तरह बर्ताव कर रहे एक व्यक्ति ने अचानक गाड़ी पर लगी नीली बत्ती उठाकर जज के मुंह पर दे मारी। पहले दोनों होंठ फूट गए तो फिर एक बार मारने पर नुकीला सिरा लगने से ठोड़ी कट गई थी।

किसी तरह साढू और पत्नी ने बीच में पड़कर भीड़ से जान बचाई, नहीं तो उस व्यक्ति ने भीड़ को ललकारे मारे कि ये प्रशासन वाले हमारी नहीं सुनते, इनको जान से मार दो। उसने और भीड़ में से कुछ व्यक्तियों ने हत्थे मार-मारकर गाड़ी का बोनट भी तोड़ने की कोशिश की। भीड़ में से किसी ने नेतृत्व कर रहे उस शख्स का नाम रॉकी मित्तल बताया। इस शिकायत पर पुलिस ने केस दर्ज करके आगे की कार्रवाई की थी, मगर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और प्रदेश के मुख्यमंत्री मनोहर लाल का करीबी होने के कारण रॉकी को राहत मिलती जा रही थी। अब पिछले कुछ दिनों से रॉकी खुले तौर पर प्रदेश की सरकार पर भ्रष्टाचार के आरोप लगा रहे हैं। माना जा रहा है कि यह कार्रवाई इसी बगावत का नतीजा है।

Advertisement

बताते चलें कि कैथल जिले से ताल्लुक रखते जय भगवान उर्फ रॉकी मित्तल रॉकी मित्तल मोदी भक्त कहलाते हैं। उन्होंने 2014 के लोकसभा चुनाव में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के प्रचार में गाने गाए थे। इसके बाद पिछले 6 साल से वह प्रदेश की सरकार के लिए प्रचार कर रहे थे। 2019 में प्रदेश की सरकार ने रॉकी मित्तल को 'एक और सुधार' कार्यक्रम का प्रोजेक्ट डायरेक्टर भी बनाया था। कुछ समय बाद उन्हें उस पद से हटा दिया गया था। इसके बाद फरवरी 2020 में रॉकी को स्पेशल पब्लिसिटी सेल के चेयरमैन की जिम्मेदारी सौंप दी गई। अब 16 दिसंबर 2020 को रॉकी को इस पद से हटा दिया गया। अतिरिक्त मुख्य सचिव धीरा खंडेलवाल ने अपने आदेश में अपरिहार्य कारण बताए थे।

Tags:

https://www.khabarlive.in/news/tag
Advertisement