मोदी की हत्या की साजिश की चिट्ठी पर महाराष्ट्र पुलिस ने रांची समेत देश के 6 शहरों में छापे, 5 लोग गिरफ्तार

मोदी की हत्या की साजिश की चिट्ठी पर महाराष्ट्र पुलिस ने रांची समेत देश के 6 शहरों में छापे, 5 लोग गिरफ्तार
Advertisement

पीएम मोदी की हत्या की साजिश की चिट्ठी पर रांची समेत 6 शहरों में छापे, 5 लोग गिरफ्तार

इन छापों में नक्सलियों से संपर्क रखने के आरोप में 5 लोगों को गिरफ्तार किया गया है

 

मुंबई/ नई दिल्ली/ रांची.  प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की हत्या की साजिश की चिट्ठी पर महाराष्ट्र पुलिस ने रांची समेत देश के 6 शहरों में मंगलवार को छापे मारे। इन छापों में नक्सलियों से संपर्क रखने के आरोप में 5 लोगों को गिरफ्तार किया गया है। इनमें हैदराबाद से तेलुगू कवि वारवरा राव, छत्तीसगढ़ में ट्रेड यूनियन कार्यकर्ता सुधा भारद्वाज, ठाणे से वेरनन गोंजालवेज, फरीदाबाद से अरुण फरेरा और दिल्ली से गौतम नवलखा शामिल हैं। हालांकि महाराष्ट्र पुलिस ने छापे का आधार पुणे के पास हुई भीमा-कोरेगांव हिंसा बताया है। महाराष्ट्र पुलिस का दावा है कि यह हिंसा एल्गार परिषद अौर नक्सलियों की वजह से हुई थी।

Advertisement

 

महाराष्ट्र पुलिस ने रांची के सामाजिक कार्यकर्ता फादर स्टेन स्वामी के नामुकम स्थित घर पर भी छापेमारी की। उनसे पूछताछ की। उनके घर से पुलिस ने एक लैपटॉप, दो टैब, कुछ सीडी और दस्तावेज जब्त किए हैं। इन सभी चीजों को महाराष्ट्र पुलिस अपने साथ ले गई। स्टेन स्वामी के घर में करीब तीन घंटे तलाशी ली गई।

 

Advertisement

जून में 5 लोगों की हुई थी गिरफ्तारी
दलित कार्यकर्ता सुधीर धवले को मुंबई, वकील सुरेंद्र गाडलिंग, कार्यकर्ता महेश राउत और शोमा सेन की नागपुर से गिरफ्तारी हुई थी। रोना विल्सन को दिल्ली के मुनीरका स्थित उनके फ्लैट से गिरफ्तार किया गया था। पुलिस के मुताबिक, इन आरोपियों के संबंध प्रतिबंधित भाकपा (माओवादी) गुट से थे।

 

भीमा-कारेगांव हिंसा
पुणे पुलिस ने फादर स्टेन स्वामी को मराठी में सर्च वारंट थमाया तो हस्ताक्षर से इनकार कर दिया। अनुवाद करने के बाद ही उन्होंने हस्ताक्षर किया।

 

पुलिस का दावा: आरोपी से मिली चिट्‌ठी में मोदी की हत्या की साजिश का जिक्र
पुणे पुलिस ने दावा किया था कि इस मामले के एक आरोपी से चिट्‌ठी मिली थी। इसमें लिखा था कि नरेंद्र मोदी हिंदूवादी नेता हैं और देश के 15 राज्यों में उनकी सरकारें हैं। अगर वे इसी रफ्तार से आगे बढ़ते रहे तो बाकी पार्टियों के लिए मुश्किलें बढ़ जाएंगी। ऐसे में मोदी के खात्मे के लिए सख्त कदम उठाने होंगे। इसलिए कुछ वरिष्ठ काॅमरेड ने कहा है कि राजीव गांधी हत्याकांड जैसी घटना अंजाम देनी होगी। ये मिशन फेल भी हो सकता है। लेकिन पार्टी में इस प्रस्ताव को रखना चाहिए। मोदी को मारने के लिए रोड शो का वक्त सबसे सही समय होगा। चिट्ठी में एम-4 राइफल और गोलियां खरीदने के लिए 8 करोड़ रु. की जरूरत की बात भी कही गई थी। गोवा में आनंद तेलतुंबडे से भी पूछताछ की गई। इन के बैंक खातों की जानकारी भी खंगाली जा रही है।

 

माकपा नेता बोले- लोकतांत्रिक अधिकारों पर हमला है छापेमारी
माकपा के नेता प्रकाश करात ने देशभर में हुई छापेमारी और गिरफ्तारी को लोकतांत्रिक अधिकारों पर हमला करार दिया है। उन्होंने गिरफ्तार लोगों को छोड़ने के साथ ही केस वापस लेने की मांग की। माकपा पोलित ब्यूरो की ओर से जारी बयान में कहा गया है कि भीमा कोरेगांव में दलितों के खिलाफ हिंसा की घटनाओं के बाद से महाराष्ट्र पुलिस केंद्रीय एजेंसियों के साथ मिलकर दलित अधिकार कार्यकर्ताओं और वकीलों को निशाना बना रही है। पार्टी ने पीड़ितों के मुकदमे लड़ रहे वकीलों और इनकी मदद कर रहे सामाजिक कार्यकर्ताओं के खिलाफ गैरकानूनी गतिविधि निरोधक कानून की विभिन्न धाराओं के तहत फर्जी मामले दर्ज किए जाने का आरोप लगाया। उधर, लेखिका और सामाजिक कार्यकर्ता अरुंधती राॅय ने कहा कि ये गिरफ्तारी सरकार के लिए खतरनाक संकेत है। इससे यह साबित होता है कि सरकार अपना जनादेश खो रही है और आतंक का सहारा ले रही है।

Tags:

Localnewsofindia
Advertisement