डाॅक्टरों ने माइक्रोसर्जरी से जोड़ा 18 साल के युवक का कटा पांव, 10 घंटे चला ऑपरेशन

डाॅक्टरों ने माइक्रोसर्जरी से जोड़ा 18 साल के युवक का कटा पांव, 10 घंटे चला ऑपरेशन
Advertisement

18 साल के युवक के एड़ी के ऊपर से कट गया था पांव, डाॅक्टरों ने माइक्रोसर्जरी से जोड़ा

10 घंटे चला ऑपरेशन, नस, मांसपेशियां और हड‌्डियों को जोड़कर पैर सही किया

डॉक्टरों का दावा - राजस्थान में इस तरह का पहला ऑपरेशन, मरीज भी खतरे से बाहर

Advertisement

जोधपुर. केरू के पास स्थित बेरू गांव के निवासी अशोक चौधरी (18) का पांव एक दुर्घटना में ट्रैक्टर गिरने से एड़ी के ऊपर से कट कर अलग हो गया था। गाेयल अस्पताल में डॉक्टरों ने ऑपरेशन कर पांव को फिर से जोड़ दिया है। मरीज अब पूरी तरह खतरे से बाहर है। हाॅस्पिटल के निदेशक डाॅ. आनंद गोयल का दावा है कि इस तरह का ऑपरेशन पूरे राजस्थान में पहला है। उन्होंने बताया कि कटी अंगुलियां, हाथ व पंजे को अब माइक्रोसर्जरी द्वारा जोड़ा जा सकता है।

 

बताया जाता है कि हादसे के बाद अशोक के पिता खुमाराम तुरंत कटे पांव के साथ अशोक को सीधे गोयल अस्पताल लेकर पहुंचे। रात करीब 12:30 बजे वहां इमरजेंसी में पहुंचने पर मौजूद डॉक्टरों ने तुरंत माइक्रो सर्जन एवं प्रत्यारोपण विशेषज्ञ डॉ. सुशील नाहर को फोन कर बुलाया। डॉ. नाहर ने मरीज की जांच कर ऑपरेशन किया।

Advertisement

 

डाॅ. नाहर ने बताया कि मरीज की स्थिति बहुत गंभीर थी, तुरंत ही टीम के साथ आॅपरेशन शुरू किया। करीब 10 घंटे चले ऑपरेशन में मरीज के पैर की एक उचय नस, मांसपेशियों व हड्डियों को जोड़ा गया। मरीज को 48 घंटे ऑब्जर्वेशन में रखा, मरीज अब खतरे से बाहर है। आॅपरेशन के दौरान डाॅ. नाहर की टीम ने अस्थि रोग विशेषज्ञ डाॅ. नरेंद्र यादव, डाॅ. शोभा पारीक, डाॅ. प्रकाश गुप्ता व आॅपरेशन थियेटर स्टाफ महेंद्र, शिवा व रतन शामिल थे।

Tags:

Jodhpur Doctor Has Connected Legs to Microsurgery
Advertisement