बारहवीं के छात्रों को अब पर्यावरण का प्रोजेक्ट जरूरी, मौखिक परीक्षा भी

बारहवीं के छात्रों को अब पर्यावरण का प्रोजेक्ट जरूरी, मौखिक परीक्षा भी
Advertisement

स्कूलों को 31 दिसंबर से पहले परीक्षा करवाने के निर्देश

नतीजों में नहीं जुड़ेंगे नंबर, परीक्षा मार्च से होने की संभावना

रायपुर. बारहवीं के छात्रों को अब पर्यावरण विषय की लिखित परीक्षा नहीं देनी होगी, बल्कि उन्हें प्रोजेक्ट बनाने होंगे। साथ ही शिक्षकों को मौखिक रूप से सवालों के जवाब देने होंगे। पर्यावरण विषय की परीक्षा को लेकर माध्यमिक शिक्षा मंडल (माशिमं) से सिस्टम बदला गया है और खुद इस परीक्षा से पीछे हट गया है। अब स्कूल ही प्रोजेक्ट वर्क और मौखिक परीक्षा का आयोजन 31 दिसंबर से पहले करेंगे और नंबर माशिमं को भेज देंगे।

Advertisement

 

माशिमं के अफसरों ने बताया कि पर्यावरण विषय को लेकर यह बदलाव न सिर्फ बारहवीं के लिए किया गया है बल्कि कक्षा ग्यारहवीं में भी इसी तरह से परीक्षा होगी। छात्रों को प्रोजेक्ट बनाने होंगे और फिर मौखिक परीक्षा देनी होगी। स्कूलों को इस संबंध में सूचना दे दी गई है। इसके अलावा वेबसाइट पर भी पर्यावरण की परीक्षा को लेकर जारी की गई है। इसके मुताबिक दो प्रोजेक्ट करने होंगे। प्रोजेक्ट के लिए कुल 30 अंक होंगे। दस में शीर्षक चयन एवं उद्देश्य कथन के लिए 4 अंक। प्रक्रिया व तकनीक में 4 अंक। विश्लेषण व व्याख्या में 4 अंक। निष्कर्ष तथा सुझाव के लिए 8 अंक और प्रोजेक्ट प्रस्तुतिकरण के लिए 10 अंक निर्धारित किए गए हैं। इसी तरह मौखिक परीक्षा कुल 20 अंकों के लिए होगी।

 

Advertisement

महायोग में नहीं जुड़ेंगे अंक : पर्यावरण अध्ययन में होने वाले प्रोजेक्ट वर्क व मौखिक परीक्षा के अंक, मार्कशीट में रहेंगे। लेकिन महायोग में इसे नहीं जोड़ा जाएगा। अंकसूची में पर्यावरण के अंक अलग से दर्शाए जाएंगे। प्रोजेक्ट व मौखिक परीक्षा में पास होने के लिए 17 अंक जरूरी हैं, लेकिन रिजल्ट पर इसका असर भी नहीं पड़ेगा।

 

मार्च में फिर हो सकती है बोर्ड परीक्षा : 10वीं-12वीं की बोर्ड परीक्षा फिर मार्च में आयोजित की जा सकती है। पिछली बार मार्च के पहले सप्ताह से परीक्षा शुरू हुई थी। दोनों परीक्षाओं के नतीजे मई के दूसरे सप्ताह में जारी किए गए थे। अफसरों का कहना कि परीक्षा की तारीख समिति तय करती है। परीक्षा के लिए आवेदन की प्रक्रिया शुरू हो गई है। जल्द ही तारीख की घोषणा भी की जाएगी। पिछली बार परीक्षा और रिजल्ट को लेकर परेशानी नहीं हुई थी। इसलिए संभावना है कि परीक्षा इस बार भी मार्च से ही शुरू होगी।

Tags:

Environmental project in 12th standard oral examination too
Advertisement