रायपुर: मुख्यमंत्री मनरेगा मजदूर टिफिन वितरण योजना शुरू

रायपुर: मुख्यमंत्री मनरेगा मजदूर टिफिन वितरण योजना शुरू
Advertisement

डॉ रमन ने बताया, कैसे मिला मजदूरों को टिफिन बांटने का आईडिया

मुख्यमंत्री मनरेगा मजदूर टिफिन वितरण योजना शुरू

प्रदेश के 10.83 लाख मजदूरों को वितरित किए जाएंगे टिफिन

Advertisement

रायपुर: मुख्यमंत्री  ने आज राजधानी रायपुर के इंडोर स्टेडियम में आयोजित कार्यक्रम में 'मुख्यमंत्री मनरेगा मजदूर टिफिन वितरण योजना' का शुभारंभ किया। इस अवसर पर मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य सरकार का सबसे बड़ा काम लोगों के जीवन में खुशहाली लाना है। राज्य सरकार का प्रयास है कि छत्तीसगढ़ के एक-एक व्यक्ति को बेहतर जीवन का अधिकार मिले और गरीब से गरीब व्यक्ति के घर खुशहाली आये। उन्होंने प्रतीक स्वरूप कुछ मजदूरों को टिफिन वितरित कर और उनका मुंह मीठा कराके योजना का शुभारंभ किया। उन्होंने कहा कि मजदूर भाइयों के लिए आज से प्रारंभ हो रही यह योजना मेरे दिल के करीब है।

मुख्यमंत्री ने कार्यक्रम में बताया कि वे पिछले साल ग्राम सुराज अभियान में बिलासपुर जिले के सुदूर अंचल के एक गांव में मनरेगा का काम देखने पहंुचे थे, वहां मजदूर पेड़ की छांव में भोजन कर रहे थे। मजदूर बर्तन में, पोटली और प्लास्टिक में घर से भोजन लेकर आए थे। मुझे भी खाने की इच्छा हुई, एक महिला मजदूर ने अपने टिफिन से मुझे भी दाल-भात और चटनी दी। यहीं मेरे मन में मजदूरों के लिए टिफिन योजना प्रारंभ करने का विचार आया। इस योजना का आज शुभारंभ हो रहा है। टिफिन में मजदूरों के भोजन की सुरक्षा और शुद्धता सुनिश्चित हो सकेगी। स्वच्छ भोजन से बीमारियों से भी मजदूर दूर रहेंगे।

मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य सरकार द्वारा मजदूरों के लिए अनेक कल्याणकारी योजनाएं संचालित की जा रही हैं। मनरेगा में 150 दिन का रोजगार दिया जा रहा है। मुख्यमंत्री खाद्य सुरक्षा योजना में गरीब परिवारों को एक रूपए में चावल, निःशुल्क नमक और चना दिया जा रहा हैं। मुख्यमंत्री स्वास्थ्य सुरक्षा योजना में प्रदेश के सभी परिवारों के लिए 50 हजार रूपए तक के निःशुल्क इलाज की व्यवस्था की गई है। उन्होंने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की आयुष्मान भारत योजना का उल्लेख करते हुए कहा कि अब गरीबों को गंभीर बीमारियों के इलाज की चिन्ता करने की जरूरत नहीं है। उन्हें इस योजना में पांच लाख रूपए तक के निःशुल्क इलाज की सुविधा मिलेगी। छत्तीसगढ़ के लगभग 40 लाख गरीब परिवारों को इस योजना का लाभ मिलेगा।  

Advertisement

Tags:

Localnewsofindia
Advertisement