देशहित में चीन से फार्मा उत्पादों का आयात कम करना जरुरी – बोधराज सीकरी

देशहित में चीन से फार्मा उत्पादों का आयात कम करना जरुरी – बोधराज सीकरी
Advertisement

केआर मंगलम् विश्वविद्यालय द्वारा आयोजित नेशनल सेमिनार में बतौर मुख्यअतिथि बोधराज सीकरी ने कहा कि लगातार बदल रही आर्थिक परिस्थितियों में आईटी, फुड और फार्मा क्षेत्र की विकास दर बनी रहेगी। भारत सरकार की नीतियों की तारीफ करते हुए बोधराज सीकरी ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी अन्तिम व्यक्ति तक स्वास्थ्य सेवाओं की उपलब्धता सुनिश्चित करने के लिए दृढ़ संकल्पित हैं। ऐसे में दवाओं की आवश्यकता में लगातार बढ़ोत्तरी स्वाभाविक है। बोधराज सीकरी ने फार्माक्षेत्र के विशेषज्ञों, शोधार्थियों और छात्रों को प्रोत्साहित करते हुए कहा कि वैसे भी देश की बढ़ती जनसंख्या और लगातार बदल रही जीवन शैली के कारण  दवाओं की आवश्यकता बढ़ेगी।

बोधराज सीकरी ने कहा कि आने वाले समय में कई दवाओं के पेटेण्ट समाप्त होने वाले हैं ऐसे में रिवर्स इन्जिनियरिगं से बड़े पैमाने पर भारतीय दवा निर्माता दवाओं का भारत में निर्माण करेंगे जिससे रोजगार के कई नये अवसर सृजित होंगे। भारतीय सरकार के नीति नियन्ताओं और शोधार्थियों को मिलकर कार्य करना चाहिये जिससे पाकिस्तान समर्थित चीन पर हमारी निर्भरता कम की जा सके। ज्ञात हो कि फार्मा उद्योग में प्रयोग होने वाला ज्यादातर साल्ट हम चीन से आयात करते हैं। इस अवसर पर केआर मंगलम् विश्वविद्यालय के वाइस चान्सलर प्रोफेसर आदित्य मलिक ने बोधराज सीकरी के योगदान और विज़न की तारीफ करते हुए कहा कि उनका विश्वविद्यालय शोध के क्षेत्र में लगातार बेहतर प्रयास कर रहा है। उन्होने बोधराज सीकरी को आश्वासन देते हुए कहा कि आने वाले समय में फार्मा उद्योग की आवश्यकतानुसार हम विद्यार्थियों को प्रशिक्षित करते रहेंगे। 

 

Advertisement

Tags:

BodrajSikri BJPHaryana https://www.khabarlive.in/news/tag
Advertisement