बड़े नेताओं के बेटे बेटियों की दावेदारी से बढ़ा रोमांच

बड़े नेताओं के बेटे बेटियों की दावेदारी से बढ़ा रोमांच
Advertisement

- निशांत कौशिक

नई दिल्ली। हरियाणा के मशहूर तीन लालों चौधरी देवीलाल, बंसीलाल और भजनलाल के अलावा अब नई पीढ़ी में कई दूसरे कई नेताओं के लाल भी सियासी किस्मत आजमाने के लिए पूरी ताकत से मैदान में है। कुछ युवा नेता इसी लोकसभा चुनाव में ताल ठोंकने को तैयार हैं। तो कुछ युवा लाल विधानसभा के लिए अभी से ताल ठोंक रहे हैं।

प्रदेश का शायद ही कोई बड़ा नेता बचा हो जो अपने जिगर के टुकड़ों के लिए राजनीति में स्थान बनाने के लिए दम न लगा रहा हो।  केंद्रीय इस्पात मंत्री बीरेंद्र सिंह के आइएएस बेटे बृजेंद्र सिंह, महेंद्रगढ़ सीट से कई बार विधायक रहे कांग्रेस के वरिष्ठ नेता राव दान सिंह के बेटे राव अक्षत सिंह, कुलदीप बिश्नोई के बेटे भव्य हरियाणा की राजनीति में अपने पिता की विरासत को लेकर माहौल बनाने में जुटे हैं।

Advertisement

 केंद्रीय राज्य मंत्री राव इंद्रजीत अपनी बेटी आरती राव, केंद्रीय राज्य मंत्री कृष्णपाल गुर्जर अपने बेटे देवेंद्र चौधरी के लिए चुनाव की तैयारी कर रहे हैं। 

 अभय सिंह चौटाला अपने बेटे कर्ण और अर्जुन चौटाला को सक्रिय कर रहे हैं जबकि अजय सिंह चौटाला के बेटे दुष्यंत चौटाला और दिग्विजय चौटाला पूरी तरह से स्थापित हो चुके हैं। और फिर से मैदान में दांव आजमाने को तैयार हैं।

गुरुग्राम में राव दान सिंह के बेटे अक्षत सिंह युवा राजनीति में रसूख भी है। अक्षत सबसे अधिक मतों से युवा कांग्रेस महासचिव पद का चुनाव जीतने का रिकॉर्ड भी बना चुके हैं। उनका दावा अपनी पिता की सीट महेंद्रगढ़ विधानसभा के साथ गुरुग्राम लोकसभा सीट पर भी है। इसी तरह कुलदीप बिश्नोइ के बेटे भव्य हिसार से दांव आजमाने की कोशिश पिता के सहारे कर रहे हैं। लोकसभा चुनाव वे खुद लड़े तो बेटे को विधानसभा का चुनाव लड़ाएंगे।

Advertisement

दरअसल जिस तरह से राजनीतिक दलों में युवाओ का असर बढ़ रहा है सूबे के बड़े नेता अपने बेटों को स्थापित करने में लग गए हैं। फिलहाल सभी दलों में बेटे बेटियों की राजनीति चमकाने की होड़ जारी है।

Tags:

Political news State news haryana news Devi lal चौधरी देवीलाल बंसीलाल भजनलाल Bhavy
Advertisement