चुनाव से पहले मतदाताअों के लिए 16 लाख के मोबाईल बंटने से पहले पकड़े गए

चुनाव से पहले मतदाताअों के लिए 16 लाख के मोबाईल बंटने से पहले पकड़े गए
Advertisement

25 किलो चांदी के गहने भी, नारायणपुर में बरामद

प्रभावशाली नेता के पक्ष में मुफ्त उपहार की तैयारी

रायपुर: नारायणपुर में स्थानीय प्रशासन ने करीब 16 लाख रूपए के सैकड़ो मोबाईल तथा करीब 12 लाख रूपए की कीमत की चांदी की ज्वेलरी बरामद की है। माना जा रहा है कि नारायणपुर में पहले चरण के लिए 12 अक्टूबर को होने वाले चुनाव से पहले मतदाताअों को बांटने के लिए यह उपहार देने की तैयारी थी। लेकिन जांच के दाैरान मामला पकड़ में अा गया। सूत्रों का कहना है कि नारायणपुर विधानसभा के एक प्रभावशाली नेता व प्रत्याशी के पक्ष में मतदाताअो के रिझाने के लिए ये मुफ्त उपहार देने की तैयारी थी।

Advertisement

 

बताया गया है कि नारायणपुर में जांच के दाैरान एक वाहन से बड़ी संख्या में बक्से मिले इसकी जांच करने पर पाया गया कि बक्सों में मोबाईल फोन हैं ये मोबाईल सरकारी संचार क्रांति योजना के न होकर अलग-अलग कंपनियों के हैं। सूत्रों के अनुसार यह माल पूनम जैन पिता शांतिलाल जैन निवासी राजनांदगांव के कब्जे से बरामद किया गया है।

 

Advertisement

ये है गड़बड़ी

 

बताया गया है कि जो मोबाईल फोन नारायणपुर लाए जा रहे थे,उसके लिए बनाए गए बिल में यह दर्ज है कि इसे राजनांदगांव से डिस्पेच किया गया। जहां पंहुचाया जाना था वह जगह भी राजनांदगांव ही लिखी हुई है। लेकिन बड़ा सवाल है कि अगर राजनांदगांव से निकला माल राजनांदगांव ही ले जाया जाना था तो उसे नारायणपुर क्यों ले अाया गया। माना जा रहा है कि यह मामला सीधे-सीधे मतदाताअों को वोट के लुभाने मुफ्त उपहार देने की तैयारी थी। उल्लेखनीय है कि नारायणपुर में हाल ही में बड़ी संख्या में कंबल बांटने के लिए लाए गए थे। यह मामला सामने अाने के बाद वाणिज्यककर विभाग ने संबंधित के खिलाफ 20 हजार की टैक्स पेनाल्टी लगाई है।

 

चांदी के गहने भी...

 

नारायणपुर में ही चंपालाल सोनी तथा मोहन लाल सोनी से 12 लाख के चांदी के गहनों के साथ 8 तोला सोना बरामद किया गया है। बताया गया है कि यह माल कोंडागांव से नारायणपुर लाया गया था। एक के पास से साढ़े सात किलों चांदी के गहने दूसरे के पास साढ़े 18 किलो चांदी के साथ सोना भी बरामद किया गया है। दोनों मामलों में पकड़े गए लोगों के पास माल से संबंधित कोई दस्तावेज नहीं मिले हैं।

 

कलेक्टर ने की पुष्टि,मामला इनकम टैक्स को देंगे

 

नारायणपुर के कलेक्टर टोपेश्वर वर्मा ने इस कार्रवाई की पुष्टि की है। उन्होंने बताया कि राजनांदगांव से मोबाईल फोन लाने वाले ने जो बिल प्रस्तुत किए हैं उसमें साफ है कि माल राजनांदगांव से निकला उसे राजनांदगांव ही पंहुचाना था। लेकिन फिर उसे नारायणपुर क्यों लाया जा रहा था। इस तथ्य की गंभीरता से जांच की जा रही है,लाखों रूपए का मामला होने के कारण यह प्रकरण इनकम टैक्स विभाग को साैंपा जा रहा है। निर्वाचन विभाग भी इस संबंध में कार्रवाई करेगा।

Tags:

Caught Before 16 Million Mobile,#This gift to distribute voters
Advertisement