वास्तुकार, शिल्पकार, कलाकार और अभियन्ता विश्वकर्मा से प्रेरणा लें युवा – बोधराज सीकरी

Advertisement

 

गुडगाँव :पाटलिपुत्र सांस्कृतिक चेतना समिति, गुरुग्राम द्वारा आयोजित विश्वकर्मा जयंती पर बतौर मुख्य अतिथि बोधराज सीकरी ने कहा कि विश्वकर्मा जयंती भारत के प्राचीन गौरवशाली अतीत के स्मरण का अवसर है। बोधराज सीकरी श्रोताओं को उत्साहित करते हुए कहते हैं कि जरा गौर करें इंद्रपुरी, द्वारिका, हस्तिनापुर, स्वर्गलोक, लंका, जगन्नाथपुरी, भगवान शंकर का त्रिशुल, भगवान विष्णु का सुदर्शन चक्र एंव पुष्पक विमान के निर्माता भगवान विश्वकर्मा ने कितने लम्बे समय तक अपनी रचनात्मकता से मानवजाति को लाभान्वित किया। आज के दौर के वैज्ञानिक किसी एक विधा में पारगंत होते हैं लेकिन अद्भुत शिल्पकार विश्वकर्मा कई विधाओं में पारंगत थे। साथ ही एक और बात का ध्यान कराते हुए बोधराज सीकरी कहते हैं हमारे धर्मग्रन्थों में कई वैज्ञानिक रहस्य छिपे हुए हैं उन सभी पर शोध की आवश्यकता है। हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल की तारीफ़ करते हुए बोधराज सीकरी कहते हैं कि सरस्वती के मार्ग खोज और उद्धार को लेकर जो कार्य भाजपा की सरकार ने आरम्भ किया है, वो भविष्य में ऐतिहासिक रहस्यों को सामने लाने में बड़ा मददगार साबित होगा।   

 

Advertisement

Tags:

GurgaonNews
Advertisement