GURGAON: राजनीति में आना चाहता था गैंगस्टर महेश अटैक

GURGAON: राजनीति में आना चाहता था गैंगस्टर महेश अटैक
Next
Advertisement

-अटैक की इनेलो से थी नजदीकी  

-हत्यारों को पकड़ने के लिए पुलिस ने गठित की तीन टीमें 

-गैंगवार का परिणाम हो सकती है अटैक की हत्या, संदीप व कौशल गैंग से थी दुश्मनी 

Advertisement

 

गुड़गांव। अपराधी जीवन से सामान्य जीवन की ओर बढ़ रहे गैंगस्टर महेश अटैक राजनीति में भी हाथ आजमाने की कोशिश में था। इसके लिए उसने इंडियन नेशनल लोकदल इनेलो का साथ पकड़ा था। उसकी फेसबुक वाल पर इनेलो के बड़े नेता व हरियाणा विधानसभा में विपक्ष के नेता अभय चौटाला के साथ का फोटो है। अटैक की भाभी पूनम किलौड़ इनेलो की टिकट पर पिछली बार नगर पार्षद चुनी गई थीं। 

बुधवार रात को गोलियों का शिकार हुए गैंगस्टर महेश अटैक की हत्या को पुलिस गैंगवार से जोड़कर देख रही है। गैंगस्टर की हत्या बुधवार रात सेक्टर 40 इलाके में कर दी गई।ऑफिस से घर जाने के दौरान एसयूवी कार से पहुंचे तीन बदमाशों ने अटैक पर ताबड़तोड़ फाय¨रग की। कुल 15 गोलियां चलीं, जिनमें से आठ गोली अटैक को लगी। अटैक मौके पर ही गिर गया था। उसे आसपास के लोगों ने मेदांता मेडिसिटी अस्पताल पहुंचाया, जहां उसे मृत घोषित कर दिया गया था हत्या, हत्या के प्रयास व अन्य कई आरोपों के करीब एक दर्जन से अधिक मामलों में आरोपी रहे महेश ने जुर्म की दुनिया सन 1997 में महज सत्रह साल की उम्र में कदम रखा था। मुख्य डाकघर से दिनदहाड़े 40 लाख की की लूट के बाद अटैक लंबे अरसे तक आतंक का पर्याय बना रहा लेकिन करीब वो नौ साल पहले उसकी शादी हो गई।  शादी के बाद से ही अटैक ने अपराधिक जीवन से दूरी बनानी शुरू कर दी थी। ओम प्रापर्टी के नाम से उसने जमीन जायदाद के धंधे में हाथ आजमाने शुरू कर दिए थे। साथ ही वो गांव के सामाजिक कार्यों में हिस्सा लेने लगा था। इन कार्यों में वह बढ़-चढ़ कर चंदा भी देता था। पिछले सप्ताह ही उसने गांव में हुए दंगल में भी महत्वपूर्ण भूमिका निभाई थी। अटैक के पिता सूबे सिंह झाड़सा गांव के सरपंच भी रह चुके हैं।

Advertisement

 

 

  • 1 img-circle
  • 2 img-circle
  • 3 img-circle
Advertisement