बिलासपुर: अंबिकापुर जनपद पंचायत सीईओ की बेटी ने अरपा नदी में छलांग लगाकर की आत्महत्या

बिलासपुर: अंबिकापुर जनपद पंचायत सीईओ की बेटी ने अरपा नदी में छलांग लगाकर की आत्महत्या
Advertisement

अंबिकापुर जनपद पंचायत सीईओ की बेटी ने अरपा नदी में छलांग लगाकर दी जान

 

बिलासपुर. अंबिकापुर जिले के जनपद पंचायत रामचंद्रपुर के सीईओ की बेटी ने गुरुवार को अरपा नदी मे कूदकर जान दे दी। उसे नदी में कूदता हुआ देख एक युवक ने बचाने के लिए छलांग भी लगाई, लेकिन ढाई घंटे बाद उसका शव ही निकाला जा सका। वह महावीर सिटी में किराए के मकान में बड़ी बहन के साथ रहकर पढ़ाई कर रही थी। 

Advertisement

डेढ़ घंटे बाद पहुंचा एसडीआरएफ का बचाव दल

  1. पानी के अंदर देखने वाला कैमरा तक नहीं 

    अरपा में कोई युवती कूद गई है यह जानकारी 10:30 बजे के लगभग एसडीआरएफ को दी गई। अगर एसडीआरएफ की टीम समय से घटनास्थल पर पहुंच जाती तो शायद युवती की जान बचाई जा सकती थी। एसडीआरएफ के पास पानी के अंदर देखने की क्षमता वाला कैमरा है वह आखिर कहां है? 

  2. बड़ी बहन से झगड़े के बाद निकली थी गंगोत्री

    पता चला है कि गंगोत्री की सुबह खाना बनाने को लेकर अपनी बड़ी बहन के साथ बहस हुई थी। यह बहस इतनी बढ़ गई कि गंगोत्री ने अपनी एक्टिवा उठाई और अरपा नदी में जाकर छलांग लगा दी। पुलिस भी यह बात स्वीकार कर रही है। यह भी पता चला है कि गंगोत्री पिछले कुछ समय से बीमार भी रह रही थी और गुस्से की भी तेज थी। 

    Advertisement
  3. हादसे की बड़ी बहन को जानकारी नहीं

    हादसे के बारे में देर रात तक सरोज को नहीं बताया गया है। पुलिस ने पूछताछ नहीं की है। वह गंगोत्री के गायब होने से चिंतित है और मकान मालिक देवेन्द्र साहू से पूछ चुकी है। देवेन्द्र साहू ने उसे इतना कहा है कि उसके घरवालों जल्द आ रहे हैं। 

  4. एक युवक ने किया था रोकने का प्रयास

    गंगोत्री ने जैसे ही रेलिंग पर पैर रखकर छलांग लगाने की कोशिश की तो एक युवक ने उसे पकड़ने का प्रयास भी किया, लेकिन जब तक पकड़ पाता वह अरपा में छलांग लगा चुकी थी। इसके बाद युवक मौके से ही गायब हो गया। वह कौन था इस पर सवाल है? 

Tags:

Ambikapur DP CEO daughter commits suicide in Arpa river Bilaspur
Advertisement