इलाज के दौरान छात्र के शव से किडनी निकालने की आशंका पर परिजनों ने किया हंगामा

इलाज के दौरान छात्र के शव से किडनी निकालने की आशंका पर परिजनों ने किया हंगामा
Advertisement

छात्र की मौत, अंतिम संस्कार के वक्त पेट में दिखा टांका, परिजनों ने किडनी निकालने के शक में किया हंगामा

शव का पीएम कराए जाने के बाद डॉक्टरों ने कोई भी अंग निकाले जाने से किया इंकार

अंबिकापुर। एक छात्र की रायपुर में इलाज के दौरान मौत के बाद शव पहुंचने पर उसके शरीर से किडनी निकालने की आशंका पर बवाल मच गया। मंगलवार को अंतिम संस्कार से पहले शव को देखने के दौरान पेट के किनारे टांका लगा दिखा। इसके बाद परिजन व गांव के लोग शव को वाहन में लेकर बिहारपुर थाने पहुंचे और विरोध प्रदर्शन कर शव का पीएम कराने की मांग की। बुधवार को शव का पीएम कराया गया। पीएम में किसी अंग के निकाले जाने की पुष्टि नहीं हुई है।

 

Advertisement

- ग्राम महुली का 12वीं कक्षा के छात्र अखिलेश देवांगन की सोमवार को रायपुर में एक निजी अस्पताल में इलाज के दौरान माैत हो गई। उसे सिर में कोई बीमारी थी। परिजन शव लेकर मंगलवार को गांव पहुंचे। इसके बाद शाम को शव को जलाने परिजन उसे मुक्तिधाम ले जा रहे थे। दाह संस्कार से पहले की औपचारिकता पूरी करने के दौरान मृतक का हाथ पेट में टेप से चिपके होने पर हाथ को किनारे हटाया गया तो पेट के बगल में टांका लगा मिला।

- इस पर लोगाें ने किडनी निकाले जाने की आशंका व्यक्त करते हुए शव का अंतिम संस्कार रोक दिया। सभी बिहारपुर थाने पहुंचे और वाहन में शव रखकर प्रदर्शन करते हुए पीएम करा मामले की जांच कराने की मांग करने लगे। सूचना पर बीएमओ डाॅ. प्रमोद राठौर व एक मेडिकल टीम थाने पहुंची । बीएमओ ने बताया कि परिजनों ने आरोप लगाया है कि मृतक के शरीर से कुछ आर्गन निकाला गया है। उन्होंने कहा कि मामले की जांच के लिए पुलिस से शिकायत की गई है। बुधवार को तीन डॉक्टरों की टीम ने शव का पोस्टमार्टम किया। डॉक्टरों की रिपोर्टर में किसी भी तरह के अंग को निकाले जाने की पुष्टि नहीं हुई है।

Tags:

Localnewsofindia
Advertisement