तंत्र मंत्र का चक्कर लील गया एक ही परिवार के 11 लोगो की जान

तंत्र मंत्र का चक्कर लील गया एक ही परिवार के 11 लोगो की जान
Advertisement

 

दिल्ली के बुराड़ी इलाके में एक ही परिवार के 11 सदस्यों की मौत के मामले में एक चौंकाने वाला खुलासा हुआ है। इस केस की जांच कर रही क्राइम ब्रांच ने ऐसा दावा किया है कि उन्हें घर से कुछ नोट्स मिले हैं जो इस तरफ इशारा कर रहे हैं कि उनकी मौत तंत्र-मंत्र के चक्कर में हुई है। हाथ से लिखे नोटों में कहा गया है 'मानव शरीर अस्थायी है और अपनी आंखें और मुंह बंद करके डर से उबरा जा सकता है।' 


जॉइंट कमिश्नर (क्राइम) आलोक कुमार ने बताया, हमने साइट का निरीक्षण किया है। वहां से हस्त लिखित नोट्स मिले हैं, जो इस तरफ से इशारा कर रहे हैं कि उनकी मौत तंत्र-मंत्र के कारण हुई है।' उन्होंने बताया , 'हमें हाथ से लिखे नोट मिले हैं जिनमें विस्तार से बताया गया है कि हाथ और पांव किस तरह बांधे जाएं और लगभग उसी तरह से 10 लोगों के शव बरामद किए गए। काफी लंबे नोट हैं और हम उनका अध्ययन कर रहे हैं।' 

इससे पहले दिल्ली पुलिस ने बताया कि घर की जांच के दौरान उन्हें हाथ से लिखे कुछ नोट मिले हैं जो इस तरफ इशारा कर रहे हैं कि पूरा परिवार किसी तरह का तंत्र-मंत्र या रहस्यमय काम किया करता था। पुलिस ने आगे बताया कि संयोगवश जो नोट्स मिले हैं उनमें वैसी ही समानता दिख रही है जैसे कि मृतकों के शव मिले हैं
बुराड़ी के संत नगर इलाके में रविवार सुबह उस वक्त सनसनी फैल गई थी जब दो भाइयों ललित और भवनेश भाटिया सहित उनके परिवार के 11 सदस्यों का शव बरामद किया गया। यह परिवार मूल रूप से राजस्थान का रहने वाला था। यह परिवार संत नगर में परचून शॉप और प्लाइवुड का बिजनस करता था। 
हर दिन की तरह सुबह 6 बजे जब ग्रॉसरी की दुकान नहीं खुली जिसके बाद सुबह करीब 7:30 बजे एक पड़ोसी परिवार को देखने के लिए उनके घर गया। दरवाजा खुला पड़ा था और अंदर का मंजर भयानक था। पड़ोसी ने तुरंद पुलिस को मामले की सूचना दी। पुलिस के मुताबिक एक बुजुर्ग महिला अपने दो बेटों के 11 लोगों के परिवार के साथ करीब दो दशकों से यहीं रह रहीं थीं। उनका एक तीसरा बेटा चित्तौड़गढ़ में रहता है। बुजुर्ग महिला की एक विधवा बेटी (58 साल) भी उनके साथ रहती थी। 
पुलिस जब घटनास्थल पर पहुंची तो बुजुर्ग महिला का शव जमीन पर पड़ा हुआ मिला, जबकि बाकी 10 मृतकों की आंखों पर पट्टी बंधी मिली और वे रेलिंग से लटके मिले। मृतकों की पहचान नारायण देवी (77), उनकी बेटी प्रतिभा (57) और दो बेटों भवनेश (50) और ललित भाटिया (45) के रूप में हुई है। पुलिस ने बताया कि भवनेश की पत्नी सविता (48) और उनके तीन बच्चे मीनू (23), नीतू (25), और ध्रुव (15) भी मृत पाए गए हैं। ललित की पत्नी टीना (42) और उनका 15 वर्षीय बेटा शिवम भी मृत पाया गया। उन्होंने बताया कि प्रतिभा की बेटी प्रियंका (33) भी फंदे से लटकी मिली। उसकी पिछले महीने सगाई हुई थी और साल के अंत में शादी होने वाली थी। 


 

Advertisement

Tags:

#crime,delhi news https://www.khabarlive.in/news/tag
Advertisement