UP में सपा ने लगवाए 5 करोड़ पौधे, बनाया वर्ल्ड रिकॉर्ड

UP में सपा ने लगवाए 5 करोड़ पौधे, बनाया वर्ल्ड रिकॉर्ड
Advertisement

लखनऊ: ग्रीन यूपी-क्लीन यूपी अभियान के तहत उत्तर प्रदेश के 6161 स्थलों पर 5 करोड पौधों का रोपण कर विश्व रिकार्ड बना दिया है। आधिकारिक सूत्रों ने यहां बताया कि दी एनर्जी एण्ड रिसोर्सेज इन्स्टीट्यूट (टेरी) वृक्षारोपण कार्यक्रमों की निगरानी करेगी। 

ग्रीन यूपी अभियान के तहत प्रदेश में वर्ष 2012-13 में 3,92,90146 पौधों का, वर्ष 2013-14 में 4,56,67,661 पौधों का तथा वर्ष 2014-15 में 3,22,87,602 पौधों का रोपण किया गया। इन वृक्षारोपण कार्यक्रमों में पूर्व राष्ट्रपति स्व. एपीजे अब्दुल कलाम, महामहिम राज्यपाल, सपा प्रमुख मुलायम सिंह यादव, मुख्यमंत्री अखिलेश यादव, प्रदेश के मुख्य न्यायाधीशगणों, मंत्रीगणो एवं अन्य गणमान्य व्यक्तियों के द्वारा पौधों का रोपण किया गया। 

सूत्रों ने बताया कि प्रदेश में वन विभाग के द्वारा सिंचाई विभाग तथा ग्रेटर नोएडा अथॉरिटी के प्रयासों से 07 नवम्बर 2015 को एक दिन में 10 स्थलों पर महिलाओं, शिक्षकों, छात्रों, छात्राओं, सैनिकों,ग्रामीणों तथा अन्य लोगों को विभिन्न प्रजातियों के 10,53,108 पौधों का रोपण रिकार्ड कर नया विश्व कीर्तिमान बनाया गया। प्रदेश सरकार को इसके लिए गिनीज वर्ल्ड रिकार्ड के द्वारा विश्व कीर्तिमान स्थापित करने सम्बन्धी प्रमाण पत्र प्रदान किया गया। 

Advertisement

दी एनर्जी एण्ड रिसोर्सेज इन्स्टीट्यूट (टेरी) की एक रिर्पोट के अनुसार 07 नवम्बर 2015 को रोपित पौधों के द्वारा 20 वर्षो के पश्चात कुल 5,96,970 मेट्रिक टन कार्बन सेक्वेरट्रेशन सुनिश्चित किया जा सकेगा। रोपित पौधों के द्वारा प्रदेश में एक अमूल्य कार्बन बैंक की स्थापना होगी जिसका मूल्य 20 वर्षो के पश्चात बढकर कई लाख करोड़ रुपए के धरोहर के रुप में पूरे प्रदेश में उपलब्ध रहेगा। भारतीय वन सर्वेक्षण रिर्पोट के अनुसार पिछले 3 वर्षो के दौरान प्रदेश में कुल हरित आवरण में 261 वर्ग किमी़ की वृद्धि रिकार्ड की गई।

रिपोर्ट में कहा गया है कि प्रदेश के वनावरण में हुई वृद्धि का प्रमुख कारण सफल वृक्षारोपण अभियानों का संचालन तथा लगाए गए पौधों एवं वनों की समुचित सुरक्षा एवं संरक्षण है। इन प्रयासों को गति प्रदान करने के उद्देश्य से मुख्यमंत्री अखिलेश यादव के आह्वान पर ग्रीन यूपी-क्लीन यूपी कार्यक्रम के तहत वर्ष 2016 वर्षाकाल में छह करोड पौधों का रोपण किया जा रहा है। इनमें से 5 करोड़ पौधों का रोपण वन विभाग के माध्यम से 11 जुलाई को 24 घंटे में कर एक और विश्व कीर्तिमान स्थापित किया जाएगा। 

वृक्षों की सुरक्षा के लिए सघन तारबाड, सिंचाई के लिए पर्याप्त व्यवस्थायें, यथा-बोरिंग आदि, मृदा सुधार के लिए भूमि की आवश्यकता के अनुसार मृदा सुधारक एवं खाद आदि मिलाया जाना, नर्सरी में उच्च गुणवत्ता की पौध तैयार करना, सभी वृक्षारोपण क्षेत्रों की जीपीएस लोकेशन तथा पालीगान के माध्यम से रोपण स्थलों का विभागीय वेबसाइट पर प्रदर्शन, उच्च तकनीकी इनपुट सम्मिलित हैं। इसके अतिरिक्त लगभग 6161 स्थलों पर किए जाने वाले इस वृहद स्तर के वृक्षारोपण कार्य के समयबद्ध अनुश्रवण के लिए एक मोबाईल एप्प एवं साफ्टवेयर भी विकसित किया गया है जिसके माध्यम से प्रत्येक रोपण स्थल के सम्बन्ध में विस्तृत सूचना विभागीय वेबसाइट पर उपलब्ध है। 

Advertisement

इस विश्व कीर्तिमान को प्रमाणित करने के उद्देश्य से स्वत्वाधिकार प्राप्त अन्तर्राष्ट्रीय संस्था, गिनीज वर्ल्ड रिकार्डस के द्वारा उक्त वृक्षारोपण का सत्यापन कराकर कीर्तिमान स्थापित करने सम्बन्धी प्रमाण पत्र प्राप्त किया जाना प्रस्तावित है। सूत्रों ने बताया कि प्रदेश में 11 जुलाई 24 घंटों के दौरान 6161 स्थलों पर पांच करोड वृक्षारोपण किया जाएगा। इस वृक्षारोपण में मुख्यत: शीशम, सागौन, नीम, कंजी, अर्जुन, इमली, गूलर, महुआ, जामुन जैसी प्रजातियों के साथ बेल, बहेडा, हरड, पीपल और पाकड परम्परागत प्रजातियों के पोधों का रोपण किया जाएगा। वन विभाग द्वारा रोपित किए जाने वाले 5 करोड़ पौधों द्वारा भविष्य में किए जाने वाले कार्बन अवशोषण का आकलन टेरी द्वारा कराई जाएगी। 

इस वृक्षारोपण में जनभागिता सुनिश्चित करने के उद्देश्य से प्रत्येक रोपण स्थल को एक शिक्षण संस्थान अथवा स्वयं सेवी संस्थान से जोडा गया है। छात्रों, शिक्षकों, कर्मचारियों तथा सदस्यों को वृक्षारोपण के संबंध में प्रशिक्षित किया गया है ताकि रोपण कार्य में उनका सहयोग प्राप्त किया जा सके। सूत्रों ने बताया कि पिछली 4 जुलाई को प्रदेश के सभी विद्यालयों में छात्रों को पर्यावरण के बारे में शपथ दिलाई गई। इसमें प्रदेश के 5 करोड़ से अधिक छात्रों ने भाग लिया।  

इस कार्यक्रम में प्रदेश के आम नागरिकों, सैन्य, अर्ध सैन्य बलों, एनसीसी कैडेटों, एमएसएस, स्वयं सेवकों, ग्रामीणों तथा अन्य लोगों को इसमें जोडा गया है। प्रदेश के मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने सभी जन प्रतिनिधियों से आगामी 11 जुलाई को अपने-अपने जिले में वृक्षारोपण कार्य में शामिल होकर एक-एक पौधा रोपित करने का आह्वान किया है।  यह वृक्षारोपण ग्रीन यूपी-क्लीन यूपी कार्यक्रम के तहत एक विशेष उपलब्धि होगी। प्रदेश सरकार द्वारा एक विश्व कीर्तिमान स्थापित करने का प्रयास किया जाएगा।

Tags:

haryana news gurgaon news state news UP news SP Party Mulayam Singh Yadav Green up program 5 करोड़ पौधे वर्ल्ड रिकॉर्ड World record of plantation
Advertisement