माता पिता को सावधान करने वाली ख़बर

माता पिता को सावधान करने वाली ख़बर
Advertisement

दिल्ली के स्कूल में पढऩे वाली नौवी कक्षा की छात्रा ने मगंलवार को दोपहर अपने घर पर खुदकशी कर ली। इस घटना में आरोप स्कूल के टीचर पर लगें है। परिवार का आरोप है कि स्कूल के दो टीचर लगातार लडक़ी को परेशान करते थे। परिवार वालों का आरोप है कि टीचर ने उसे फेल करने की धमकी दी थी। छात्रा की खुदकशी की घटना के बाद एक बार फिर स्कूलों में बच्चों की सुरक्षा पर सवाल खड़ा कर दिया है।

दिल्ली के मयूर विहार इलाके के एल्कॉन स्कूल की नौवीं की छात्रा इकिसा (15) ने मंगलवार दोपहर सेक्टर 52 स्थित घर पर खुदकशी कर ली। घटना के दौरान परिवार के लोग घर पर मौजूद नहीं थे। शाम को परिवार के लोग घर लौटे तो घटना की जानकारी हुई। छात्रा पिछले दिनों आए रिजल्ट में फेल हो गई थी। परिजन ने स्कूल प्रबंधन पर छात्रा को परेशान करने सहित अन्य गंभीर आरोप लगाए हैं। कोतवाली सेक्टर 24 पुलिस मामले की जांच में जुटी है।

इकिसा का परिवार सेक्टर 52 के डी ब्लाक में रहता है। उसके पिता राघव शाह कथक डांसर हैं और वह प्रसिद्ध कथक डांसर बिरजू महाराज के शिष्य हैं। मंगलवार दोपहर के समय राघव सहित परिवार के सभी लोग कहीं गए हुए थे। इकिसा घर पर अकेली थी। शाम करीब साढ़े चार बजे जब परिवार के लोग घर पहुंचे तो मकान का दरवाजा काफी प्रयास के बाद भी नहीं खुला। किसी प्रकार परिजनों ने मकान के अंदर प्रवेश किया तो देखा कि इकिसा रेङ्क्षलग से फंदे के सहारे लटकी हुई है। परिजनों ने उसे तत्काल फंदे से निकाला और सेक्टर 27 स्थित कैलाश अस्पताल लेकर पहुंचे। जहां डाक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया। कोतवाली प्रभारी इंस्पेक्टर अखिलेश त्रिपाठी ने बताया कि मार्च के पहले सप्ताह में रिजल्ट आया था। जिसमें वह एक विषय में फेल हो गई थी। परिजन स्कूल प्रबंधन पर छात्रा को परेशान करने और जानबूझ कर फेल करने का आरोप लगा रहे हैं, हालांकि अभी कोई लिखित तहरीर नहीं दी गई है। उधर, छात्रा की एक पारिवारिक सहयोगी ने बताया कि छात्रा का भाई भी पहले इसी स्कूल में पढ़ता था, लेकिन दो वर्ष पहले वह निकल गया था। छात्रा को स्कूल के कुछ टीचरों द्वारा लगातार शारीरिक और मानसिक रूप से परेशान किया जा रहा था। परिजन ने स्कूल प्रबंधन पर उसे जानबूझ कर फेल करने का आरोप लगाया है। उन्होंने कहा कि रिजल्ट आने पर उसकी कॉपी दिखाने के लिए भी परिजन कहे थे, लेकिन स्कूल प्रबंधन इसको लेकर तैयार नहीं हुआ था।

Advertisement

इतना सब होने के बाद भी स्कूल प्रबंधन इस घटना में छात्रा का ही दोष बता रहा है। स्कूल प्रशासन ने बिना किसी जाचं के स्कूल टीचरों को क्लीन चिट दे दी है। जिसकेे बाद से लगने लगा है कि मोटी फीस वसूलने वाले किस तरह से बच्चे की परवाह करते हे। फिलहाल पुलिस मामले की जाचं कर रही है।

Tags:

noidagirl studentsucide schoolsucide khabarlive gurgaontoday
Advertisement