लगता है 2019 की बीसात बिछनी शुरू हो गयी है...........

लगता है 2019 की बीसात बिछनी शुरू हो गयी है...........
Advertisement

दिल्ली का रास्ता लखनऊ से होकर गुजरता है ये बात राजनीती  के सभी दिग्गज जानते है चाहे कांग्रेस हो या फिर बीजेपी सभी दल दिल्ली हमेशा से पहुचना चाहते है लेकिन पिछले कुछ घंटो से उत्तर प्रदेश में नीले और लाल रंग का गुलाल उड़ता दिखाई दे रहा है जिसमे केसरिया गुलाल छिप गया है ये गुलाल उड़ाया एक 29 साल का नौजवान जिसका नाम है प्रवीण निषाद जोकि गोरखपुर के 29 साल के केसरिया शासन में चुनाव के सहारे अपना रंग जीत के साथ भरते दिख रहे है 
संतोष उर्फ प्रवीण कुमार निषाद गोरखपुर के कैम्‍पियरगंज क्षेत्र के रहने वाले हैं। गोरखपुर के नए सांसद की उम्र केवल 29 वर्ष है। प्रवीण निषाद ने पहली बार समाजवादी पार्टी के टिकट से चुनाव लड़ा। प्रवीण ने एनएनआईटी ग्रेटर नोएडा से मैकेनिकल इंजीनियरिंग की है। नौकरी के दौरान ही उन्होंने सिक्किम मनीपाल यूनिवर्सिटी से पत्राचार के माध्यम से एमबीए किया।
वर्ष 2009 से 2013 तक उन्होंने राजस्थान के भिवाड़ी में एक प्राइवेट कंपनी में बतौर प्रोडक्शन इंजीनियर नौकरी की थी, लेकिन उनको यह रास नहीं आया और वह वापस गौरखपुर लौट आए और अपने पिता की बनायीं हुई राष्ट्रीय निषाद पार्टी में शामिल हो गए। उस वक़्त प्रवीण कुमार निषाद उस पार्टी के प्रवक्ता बनाए गए थे।

Tags:

praveennishad bjp gorakhpur
Advertisement