ICSE की किताब में मस्जिद को भी बताया ध्वनि प्रदूषण का जिम्मेदार, हुआ विवाद

ICSE की किताब में मस्जिद को भी बताया ध्वनि प्रदूषण का जिम्मेदार, हुआ विवाद
Advertisement

नई दिल्ली: स्कूलों के पाठ्यक्रम में पढाई जाने वाली ICSE की विज्ञान की पुस्तक को लेकर विवाद हो गया है. दरअसल इस किताब में छपी एक तस्वीर के जरिए मस्जिद को भी ध्वनि प्रदूषण (Noise Pollution) की वजह बताया गया है.

जब Social Media पर विवाद बढ़ा तो प्रकाशक ने इसके लिए माफी मांगी है और उस तस्वीर को किताब के आने वाले संस्करणों से हटाने का वादा किया है.

सेलिना पब्लिशर्स द्वारा प्रकाशित विज्ञान की पाठ्यपुस्तक में ध्वनि प्रदूषूण के कारणों पर एक अध्याय है. सोशल मीडिया पर फैली तस्वीर में ट्रेन, कार, विमान और एक मस्जिद के साथ तेज ध्वनि को दर्शाने वाले चिहन हैं जिसके सामने एक एक व्यक्ति दिख रहा है जिसने खीझकर अपने कान बंद कर रखे हैं.

Advertisement

सोशल मीडिया का इस्तेमाल करने वाले लोगों ने किताब वापस लेने की मांग को लेकर अब एक ऑनलाइन याचिका शुरू की है. आईसीएसई बोर्ड के अधिकारी टिप्पणी के लिए मौजूद नहीं थे.

प्रकाशक ने चित्र के लिए माफी मांगी है. प्रकाशक हेमंत गुप्ता ने इस पर सफाई देते हुए कहा, ‘सभी संबंधित लोगों को बताना चाहता हूं कि हम किताब के आने वाले संस्करणों में चित्र बदल देंगे.’ उन्होंने कहा, ‘अगर इससे किसी की भी भावनाएं आहत हुई हों तो हम इसके लिए माफी मांगते हैं.’

सोनू निगम ने भी मस्जिद को बताया था ध्वनि प्रदूषण का जिम्मेदार 

Advertisement

बॉलीवुड सिंगर सोनू निगम ने यह कहकर विवाद को जन्म दिया था कि उनके घर के पास स्थित मस्जिद की ‘अजान’ की आवाज से उनकी नींद टूट जाती है. जिसके बाद काफी विवाद उपजा था. 

Tags:

National News State News New Delhi News ICSE Books Maszid Noise pollution Maszid Creates Noise Pollution सेलिना पब्लिशर्स
Advertisement