स्वर्ण जयंती डायग्रोस्टिक सैंटर के निर्माण को लेकर बैठक

स्वर्ण जयंती डायग्रोस्टिक सैंटर के निर्माण को लेकर  बैठक
Advertisement

गुरुग्राम (प्रवीण शर्मा)। गुरुग्राम में आम जनता को ईलाज के लिए सस्ती दरों पर टैस्ट की सुविधा उपलब्ध करवाने के लिए स्वर्ण जयंती डायग्रोस्टिक सैंटर का निर्माण सैक्टर-39 में किया जाएगा। उपायुक्त एवं जिला स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण समिति के अध्यक्ष विनय प्रताप सिंह ने इस डायग्रोस्टिक सैंटर का निर्माण शुरू करवाने के लिए संबंधित पक्षो के साथ आज अपने कार्यालय में बैठक की। इस सैंटर की आधारशिला पिछले दिनों केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री जे पी नड्डा द्वारा रखी गई थी। 

स्वर्ण जयंती डायग्रोस्टिक सैंटर का निर्माण केंद्र सरकार के सार्वजनिक क्षेत्र के उपक्रम (पीएसयू) एचएलएल लाईफ केयर लिमिटिड द्वारा जिला स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण समिति की देख-रेख में किया जाएगा। इस पीएसयू द्वारा एम्स सहित कई बड़ेे अस्पतालों में इस प्रकार के डायग्रोस्टिक सैंटर तैयार करके दिए गए हैं और चलाए भी जा रहे हैं। गुरुग्राम में बनाई जाने वाले स्वर्ण जयंती डायग्रोस्टिक सैंटर पर लगभग 6 करोड़ 20 लाख रूपए की लागत आने की अनुमान है और इस लागत में श्री माता शीतला देवी पूजा स्थल बोर्ड द्वारा 3.40 करोड़ रूपए, इफको-टोकियो कंपनी द्वारा 1.5 करोड़ रूपए, इंडिया इंफ्रास्ट्रक्चर फाईनेंस कंपनी लिमिटेड द्वारा 1 करोड़ रूपए  तथा नगर निगम द्वारा 30 लाख रूपए की हिस्सेदारी की जाएगी। एचएलएल लाईफ केयर लिमिटिड के प्रतिनिधि ने उपायुक्त को बताया कि उनकी कंपनी द्वारा इस सैंटर में लगभग 3 करोड़ रूपए की लागत से सिटी स्कैन की मशीन लगाई जाएगी। उन्होंने बताया कि इस सैंटर का प्रथम चरण का निर्माण पूरा करने के लिए 3 महीने का समय निर्धारित किया गया है। 

 

Advertisement

उपायुक्त ने बैठक में कहा कि कोई भी उपकरण खरीदने से पहले कंपनी द्वारा उपकरणों की विस्तारपूर्वक व्याख्या के साथ सूची तथा खरीदने का माध्यम आदि की जानकारी जिला स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण समिति को अवश्य भेजे और यहां से स्वीकृति मिलने के बाद ही खरीद करें। बैठक में बताया गया कि एचएलएल  लाईफ केयर लिमिटिड द्वारा इस डायग्रोस्टिक सैंटर का निर्माण करके 10 वर्षों तक इसका संचालन भी किया जाएगा। इस सैंटर में आम जनता को ईलाज में उपयोगी टैस्ट मार्किंट की अपेक्षा बहुत की कम दरों में करवाने की सुविधा उपलब्ध होगी। 

बैठक में उपायुक्त के अलाव सिविल सर्जन डा. बी के राजौरा, नगर निगम के सिविल सर्जन डा. असरूद्दीन, जिला परिषद की मुख्य कार्यकारी अधिकारी डा. चिनार चहल, उप सिविल सर्जन डा. शशि, इफको टोकियो केे सीएसआर हैड एवं उपाध्यक्ष रमेश कुमार साहिजवानी, इंडिया इंफ्रास्ट्रक्चर फाईनेंस कंपनी लिमिटेड तथा एचएलएल लाईफ केयर लिमिटेड के प्रतिनिधि उपस्थित थे। 

Tags:

# health gurgaon haryana gurugram
Advertisement