चीन ने बॉर्डर पर टैंकों के साथ शुरू किया युद्ध अभ्यास , कहा- भारत की गलतफहमी दूर कर देंगे

चीन ने बॉर्डर पर टैंकों के साथ शुरू किया युद्ध अभ्यास , कहा- भारत की गलतफहमी दूर कर देंगे
Advertisement

इंटरनेशनल डेस्क. भारत चीन विवाद दिन-ब-दिन बढ़ता ही जा रहा है. हालत इतने नाज़ुक हो रहे हैं कि चीन ने युद्ध अभ्यास भी शुरू है. 

चीन के एक सरकारी अखबार ने दावा किया है कि सिक्किम सेक्टर के डोकलाम में चल रही भारत के साथ तनातनी के बीच चीनी सेना ने समुद्र तल से 5100 मीटर की ऊंचाई पर पूरे साजो सामान के साथ सैन्य अभ्यास किया है.

ग्लोबल टाइम्स की रिपोर्ट के मुताबिक इस सैन्य अभ्यास में पीपुल लिबरेशन आर्मी के सबसे उन्नत युद्धक टैंक 96बी भी शामिल थे. हालांकि रिपोर्ट में यह दावा नहीं किया गया है कि यह सैन्य अभ्यास कब हुआ है. लेकिन अखबार ने गुरुवार को 'मिलिट्री ताकत की गलतफहमी न पाले भारत' शीर्षक वाली खबर में इस बारे में इंगित किया था. चीन फिर बोला- सिक्किम में भारतीय सैनिकों ने क्रॉस किया बॉर्डर

Advertisement

पीएलए एयर फोर्स कमांड कॉलेज के वाइस प्रेसिडेंट और पीएलए के रिटायर्ड जनरल झू हेपिंग ने कहा कि भारत डोकलाम में सड़क निर्माण को रोक नहीं पाएगा. बता दें कि 16 जून को इस रोड के निर्माण को भारतीय सैनिकों द्वारा रोकने के बाद और भूटान द्वारा आपत्ति जताने के बीच चीन के साथ सीमा पर तनातनी बढ़ गई है. चीन इस इलाके को अपना हिस्सा मानता है.

रिटायर्ड मेजर जनरल झू ने कहा, 'भारत का हस्तक्षेप चीन को लेकर उसका रुझान दर्शाता है. यह एक बहुत ही छोटा और संकरा इलाका है, जहां बड़ी संख्या में सैनिकों को पूरी तरह तैनात भी नहीं किया जा सकता.'

उन्होंने सवाल करते हुए कहा, 'क्या आपको लगता है कि कुछ मिलिट्री वाहनों और सैनिकों के साथ सीमा पर चीन के सड़क निर्माण कार्यक्रम को रोका जा सकता है.' झू ने कहा कि चीनी सेना लगातार ताकतवर और मजबूत होती जा रही है और भारतीय सेना उसके मुकाबले में नहीं है. भारत की उकसाने वाली कार्रवाई का कोई असर नहीं होने जा रहा है.

Advertisement

गुरुवार की रिपोर्ट के मुताबिक चीनी सेना के वेस्टर्न कमांड ने हाल ही में पूरे सैन्य साजो सामान से लैस कैवेलरी ब्रिगेड को 5100 मीटर ऊंचाई पर सैन्य अभ्यास के लिए भेजा था.

यह पहली बार है जब पीएलए की आर्म्ड ब्रिगेड इस तरह के वातावरण में युद्धाभ्यास कर रही है. सिन्हुआ की ओर से जारी की गई तस्वीरों में पीएलए की ब्रिगेड चीन के सबसे उन्नत 96बी टैंकों के साथ लैस है.

बता दें कि 96बी टैंक चीन की टैंक फ्लीट का सबसे मजबूत हिस्सा है. चीनी अखबार की रिपोर्ट के मुताबिक पीएलए की टैंक फोर्स का यह रीढ़ है.

Tags:

National news international news politics news indo-china war ind vs china War practice भारत चीन विवाद India china 1962 war
Advertisement