बाबरी विध्वंस: दिगज्जों पर आज तय होंगे आरोप !

बाबरी विध्वंस: दिगज्जों पर आज तय होंगे आरोप !
Advertisement

लखनऊ. यूपी के अयोध्या में विवादित ढांचा ढहाए जाने के केस में मंगलवार को  CBI की स्पेशल कोर्ट लाल कृष्ण आडवाणी, सांसद मुरली मनेाहर जोशी, उमा भारती, विनय कटियार, साध्वी ऋतंभरा और विष्णु हरि डालमिया समेत 13 नेताओं के खिलाफ आरोप तय कर सकती है।

इन नेताओं पर बाबरी ढांचा ढहाए जाने की साजिश रचने का आरोप है। कोर्ट ने सभी नेताओं को सुनवाई के दौरान मौजूद रहने को कहा है। आडवाणी, जोशी दिल्ली से लखनऊ के लिए रवाना हो गए हैं।

 25 मई को तय नहीं हो सके थे आरोप...

Advertisement

- सीबीआई की स्पेशल कोर्ट बाबरी केस से जुड़े दो अलग अलग मामलों की सुनवाई कर रही है।

- मस्जिद को ढहाने के केस में 22 मई को सुनवाई हुई थी। इसमें महंत नृत्य गोपाल दास, महंत राम विलास वेदांती, बैकुंठ लाल शर्मा उर्फ प्रेमजी, चंपत राय बंसल, धर्मदास और डॉ. सतीश प्रधान के खिलाफ आरोप तय नहीं हो सके थे। हालांकि, सतीश प्रधान को छोड़कर इनमें से कोई भी कोर्ट में हाजिर नहीं था। कोर्ट ने इन लोगों को भी आरोप तय करने के वक्त मौजूद रहने को कहा था।

- कोर्ट ने कहा था कि 30 मई को सुनवाई के दौरान इन आरोपियों की ओर से छूट या स्थगन को लेकर दायर की गई कोई भी एप्लीकेशन मंजूर नहीं की जाएगी।

Advertisement

ये है पूरा मामला

- दिसंबर, 1992 को दो एफआईआर दर्ज की गई थीं। पहली अज्ञात कारसेवकों के खिलाफ। इन पर मस्जिद ढहाने का आरोप था। इसकी सुनवाई लखनऊ कोर्ट में हुई थी। वहीं, दूसरी एफआईआर आडवाणी, जोशी और अन्य लोगों के खिलाफ थी। इन सभी पर मस्जिद ढहाने के लिए भड़काऊ स्पीच देने का आरोप था। इस केस की सुनवाई रायबरेली के सेशन कोर्ट में चल रही थी।

- पिछली सुनवाई में सीबीआई ने सुप्रीम कोर्ट से कहा, "लालकृष्ण आडवाणी, डॉ. मुरली मनोहर जोशी और उमा भारती समेत 13 लोगों के खिलाफ आपराधिक साजिश रचने का मामला चलना चाहिए।''

- सीबीआई के वकील ने कोर्ट को बताया कि रायबरेली में 57 लोगों की गवाही ली जा चुकी है। वहीं, 100 से ज्यादा लोगों की गवाही ली जानी है। यह भी बताया कि सभी 21 आरोपियों के खिलाफ आरोपों को हटा लिया गया था। इनमें बीजेपी नेता भी शामिल हैं।

इन लोगों पर केस

- रायबरेली में चल रहे केस में लालकृष्ण आडवाणी, मुरली मनोहर जोशी, उमा भारती, कल्याण सिंह, विनय कटियार, साध्वी ऋतंभरा, सतीश प्रधान, चंपत राय बंसल, विष्णु हरि डालमिया, सतीश प्रधान, राम विलास वेदांती, जगदीश मुनि महाराज, बीएल शर्मा, नृत्य गोपाल दास, धर्म दास का नाम शामिल हैं।

- इसके अलावा बाल ठाकरे, गिरिराज किशोर, अशोक सिंघल, महंत अवैद्यनाथ, परमहंस रामचंद्र और मोरेश्वर सावे के नाम भी हैं। इन सभी लोगों का निधन हो चुका है।

Tags:

national news state news UP News Ayodhya News Babri Case Lal Krishna Advani अयोध्या CBI
Advertisement